Osho Quotes in Hindi on Love || प्यार के सम्बन्ध में ओशो के विचार

Osho Quotes in Hindi on Love: ओशो जिन्हें क्रन्तिकारी व्यक्ति कहना बूरा ना होगा | ओशो ने जीवन के हर पहलु के बारे में  कहा और इतना सटीक, सरल और तर्क के साथ लिखा और कहा की कोई भी उन्हें नकार ना सका | Osho मानने वाले पूरी दुनिया में है |

ओशो ने कहा – जो मैं कह रहा हूँ उस पर यूहीं विश्वाश मत कर लेना, तुम पहले उससे जानना फिर मानना | osho ने कहा मेरे पीछे नहीं मेरे साथ मेरे बराबर पर चलो |

Osho ने प्यार पर भी कहा, प्यार करने वालो से  ज्यादा उन्होंने सिर्फ प्यार क्या होता है इस पर कहा | इतने समय के बाद में युवा osho love Quotes गूगल पर सर्च करके सोशल मिडिया पर शेयर करते है |

ओशो ने प्रेम की नई परिभाषा से लोगो को अवगत कराया या ये कहु की सरल से सरल शब्दों में लोगो को प्यार या प्रेम के बारे में बताया |

कहा जाता है  लोगो के सामने ओशो  विरोध करने वाले भी उन्हें अकेले में बैठ कर सुनते थे और शायद आज भी सुनते होंगे |

Osho Quotes in Hindi on unconditional Love पोस्ट में osho के कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण विचारो को आपके साथ साझा किया गया है |

आइये शुरू करते है –

Great Osho Quotes in Hindi on Love

1. प्रेम, प्रेमी को बांधता नहीं बल्कि उसे स्वतंत्र कर देता है | प्यार अधिकार नहीं  स्वतंत्रता है |

2. प्रेम एक आध्यात्मिक घटना है, वासना भौतिक. अहंकार मनोवैज्ञानिक है, प्रेम आध्यात्मिक.

3. प्यार में दूसरे महत्वपूर्ण होते हैं, वासना में आप महत्वपूर्ण होते हैं।

4. प्रेमियों ने कभी एक दुसरे के लिए आत्मसमर्पण नहीं किया, प्रेमी सिर्फ प्रेम के लिए आत्मसमर्पण करते है |   

5. यदि तुम आपने आप से प्रेम करते हो, तो ही दुसरे तुमसे  प्रेम कर पाएंगे |

6. जब प्यार और नफरत दोनों ही ना हो, तो हर चीज़ साफ़ और स्पष्ट हो जाती हैं।

7. पुरुष जितना प्रेम शब्दों में प्रकट करेगा उससे कई गुना ज्यादा स्त्री मौन में प्रकट कर देगी।

8. इन्सान हर समय प्रेम में हो सकता है क्योकि यही उसका मूल स्वाभाव है | 

9. प्रेम से बढ़कर कोई चुनोती नहीं है, दुसरे व्यक्ति के साथ प्रसन्नता पूर्वक रहना दुनिया में बड़ी से बड़ी चुनोती है |   

10. Osho Quotes in Hindi on Love

11. आप जितने लोगों को चाहे उतने लोगों को प्रेम कर सकते हैं- इसका ये मतलब नहीं है कि आप एक दिन दिवालिया हो जाएंगे, और कहेंगे, ” अब मेरे पास प्रेम नहीं हैं।” जहाँ तक प्रेम का सवाल है आप दिवालिया नहीं हो सकते।

12. किसी के साथ किसी भी प्रतियोगिता की कोई ज़रूरत नहीं है. तुम जैसे हो अच्छे हो. अपने आप को स्वीकार करो |

13. कोई विचार नहीं, कोई बात नहीं, कोई विकल्प नहीं – शांत रहो, अपने आप से जुड़ो, पहले खुद से प्रेम करो |

14. तनाव का अर्थ है कि आप कुछ और होना चाहते हैं जो कि आप नहीं हैं.

15. अपने मन में जाओ, अपने मन का विश्लेषण करो. कहीं न कहीं तुमने खुद को धोखा दिया है.                                                                      

आपको ये पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में लिखकर जरुर बताएं और यदि आपको ये विचार पसंद आये हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *